Friday, March 5, 2021
No menu items!
Home News ट्रैफिक जाम के कारण लूट गया कारीगर के जेवर और पैसे

ट्रैफिक जाम के कारण लूट गया कारीगर के जेवर और पैसे

Jewelry workers in Ara – आरा में ट्रैफिक जाम के कारण लूट गया आभूषण कारीगर

खबरे आपकी :- आरा : आभूषण कारीगर (Jewelry workers in Ara) सोमवार को ट्रैफिक जाम के कारण लूटपाट के शिकार हो गये। जाम के कारण गली के रास्ते जाने के दौरान वह बदमाशों के हत्थे चढ़ गये। इस बात की तस्दीक खुद कारीगर द्वारा ही की गयी है। उन्होंने बताया कि अपने घर से गहने की डिलेवरी करने बाइक से निकले थे। तब करमन टोला वाला मेन रोड जाम था। इस कारण वह गली से होकर जाने लगे। तभी करमन टोला के पास की गली में पीछे से आ रहे बदमाशों ने घेर कर उनकी बाइक रोक ली और लूटपाट करने लगे। ऐसे में लोगों का कहना है कि अगर मेन रोड जाम नहीं रहता, तो शायद उनके साथ वारदात नहीं होती।

बता दें कि शहर में ट्रैफिक जाम के कारण लोग अबतक आवागमन को लेकर ही परेशान रहते थे। लेकिन जाम अब अपराधियों के काम आने लगा है। इससे आम लोग और व्यवसायी दहशत में हैं।

आभूषण कारीगर के पीछे पहले से ही लगे थे बदमाश

पढ़े :- पुलिस को मिला हथियारों का जखीरा,भोजपुर के पीरो के रहने वाले हैं गिरफ्तार तस्कर

आरा शहर के काफी भीड़-भाड़ वाले इलाके में जिस तरह से आभूषण व्यवसायी से लूट की घटना हुई है। उससे लग रहा है कि अपराधी पहले से ही व्यवसायी के पीछे लगे थे। पुलिस भी इस एंगल से जांच कर रही है। सीसीटीवी फुटेज में भी ऐसा ही लग रहा है। फुटेज के मुताबिक व्यवसायी बाइक से आ रहे हैं। उनके पीछे दो अपराधी पैदल ही दौड़ रहे हैं। उन दोनों के पीछे बिना नंबर की एक बाइक से भी दो बदमाशों को देखा जा रहा है। उसके कुछ सेकेंड बाद ही अपराधियों द्वारा व्यवसायी को पकड़ लिया जाता है। 

भीड़-भाड़ वाले इलाके में हो गयी लूट, पर किसी ने नहीं दिखाई हिम्मत

पढ़े :- लालू यादव के बेहद करीबी जगदानंद सिंह पर भड़के तेजप्रताप ने लगाये गंभीर आरोप

आरा: करमन टोला शहर के सबसे भीड़-भाड़ वाला और व्यस्त इलाका माना जाता है। वहां सोमवार को भी लोगों की भीड़ थी। मेन रोड जाम था और गली से होकर लोग आते-जाते दिख रहे थे। गली में एक-दो दुकानें भी थी और लोग खरीदारी भी कर रहे थे। इन सब के बीच करीब साढ़े 11 बजे आभूषण व्यवसायी से लूट हो जाती है। अपराधी बाइक से जा रहे व्यवसायी को खदेड़कर पकड़ लेते हैं। उनकी पिटाई करते हैं और लूट की वारदात को अंजाम देते हैं। सीसीटीवी फुटेज में साफ दिख रहा है कि घटनास्थल के पास एक दुकान पर कुछ लोग खड़े हैं। बाइक से भी कुछ लोगों को आते-जाते देखा जा रहा है। लेकिन सभी मुंह मोड़ कर चले जाते हैं। अगर लोगों ने थोड़ी सी भी हिम्मत दिखाई होती, तो शायद आए लूट नहीं होती। या अपराधी पकड़ लिये जाते।

बता दें कि चोरी जैसी घटनाओं में तो मॉब लिचिंग जैसी घटना हो जा रही है। मामूली बात को लेकर सड़क पर उतर कर लोग पुलिस वालों से भिड़ जाते हैं। लेकिन लूटपाट का विरोध करने की जहमत किसी ने नहीं उठायी।

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular