Monday, March 8, 2021
No menu items!
Home अन्य चर्चित खबर हत्या के मामले में दूल्हे के पिता समेत तीन गिरफ्तार

हत्या के मामले में दूल्हे के पिता समेत तीन गिरफ्तार

Padaria Harsh firing – ग्रामीण फायरिंग का करते रहे विरोध, पर नहीं माने बाराती 

आरा। भोजपुर जिले के चरपोखरी थाना क्षेत्र के पड़रिया गांव में हर्ष फायरिंग (Padaria Harsh firing) का विरोध करने पर पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इसमें रोहतास के शिवसागर थाना क्षेत्र के मोरकप गांव निवासी दूल्हे के पिता विजय सिंह भी शामिल हैं। एसपी हर किशोर राय ने तीन आरोपितों की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। एसपी ने बताया कि अन्य आरोपितों की धरपकड़ को लेकर छापेमारी की जा रही है। दूल्हे के पिता विजय सिंह हत्या कांड के मुख्य और नामजद आरोपित हैं।

  • बारात के द्वार पूजा के समय से ही शुरू हो गयी थी हर्ष फायरिंग, चली गयी एक की जान
  • दूल्हे के पिता और भाई समेत पांच बारातियों पर राइफल से फायरिंग का आरोप
  • शाम से ही ग्रामीण फायरिंग का करते रहे विरोध, पर नहीं माने बाराती 
  • मृत युवक के परिजन और रोड जाम कर रहे लोगों का आरोप: नशे में थे बाराती

आरा। चरपोखरी थाना क्षेत्र का (Padaria Harsh firing) पड़रिया गांव शुक्रवार की रात खूनी हर्ष फायरिंग का गवाह बन गया। गांव के लोग शाम से जिस बात को लेकर आशंकित थे, आखिर वही घटना हो गयी। बारातियों द्वारा शादी की खुशी में की जा रही फायरिंग गांव के लोगों के लिये काफी अशुभ साबित हुआ। हर्ष फायरिंग की इस घटना में विश्वनाथ सिंह ने अपने छोटे बेटे निकेश उर्फ छोटू को खो दिया। हर्ष फायरिंग का विरोध करने पर निकेश की गोली मार हत्या कर दी गयी। इस घटना के बाद से गांव के लोग काफी आक्रोशित थे। निकेश उर्फ छोटे के परिजनों और गांव के कुछ लोगों की बात को सच मानें तो अधिकतर बाराती नशे में थे। द्वार पूजा के समय से ही लगातार हर्ष फायरिंग की जा रही थी। यहां तक की दूल्हे के पिता और भाई द्वारा भी राइफल से ताबड़तोड़ फायरिंग की जा रही थी। लोगों की मानें तो बारातियों के हाव-भाव और लक्ष्ण देख शाम से ही किसी अनहोनी की आशंका उत्पन्न हो रही थी। इसे लेकर गांव के लोगों द्वारा बारातियों को बहुत बार समझाने का प्रयास किया गया। लेकिन बाराती किसी की बात सुनने को तैयार नहीं थे। एक युवक का कहना था कि फायरिंग का विरोध करने गये एक बुजुर्ग के साथ भी बारातियों द्वारा मारपीट की गयी थी। इस बीच रात करीब दो बजे फायरिंग का विरोध करने पर निकेश को गोली मार दी गयी। 

  • मनपसंद गाने को ले झगड़ रहे थे बाराती, समझाने गये निकेश को मार दी गोली

आरा। हर्ष फायरिंग में मारे गये निकेश के पिता विश्वनाथ सिंह द्वारा चरपोखरी थाने में प्राथमिकी करायी गयी है। इसमें दूल्हे के पिता रोहतास के मोरकप गांव निवासी विजय सिंह, भाई अनुप सिंह, दोस्त अशोक सिंह, आशुतोष सिंह और प्रशांत चौहान को आरोपित किया गया है। कहा गया है कि शाम में द्वार पूजा के समय ही पांचों आरोपितों द्वारा राइफल से फायरिंग की जा रही थी। समझाने पर भी कोई असर नहीं पड़ रहा था। रात करीब दो बजे सामियाने में आर्केस्टा के दौरान अपने मनपसंद गाने पर डांस कराने को लेकर बाराती आपस में झगड़ा और हंगामा कर रहे थे। इसे देख उनका लड़का समझाने गया, तो सभी उससे उलझ गये और गाली-गलौज करने लगे। इस दौरान दूल्हे के पिता विजय सिंह के ललकारने पर अशोक सिंह ने उनके बेटे को गोली मार दी। इससे उसकी मौत हो गयी। वहीं घटना के बाद दूल्हे के भाई अनुप सिंह सहित अन्य बाराती भाग निकले। 

  • हत्या के बाद भारी संख्या में पहुंची पुलिस ने मामले को कराया गया शांत

आरा। बारात में हर्ष फायरिंग का विरोध करने पर निकेश की हत्या के बाद गांव में तनाव बढ़ गया। सूचना मिलने पर पीरो डीएसपी अशोक कुमार आजाद के नेतृत्व में गड़हनी, पीरो, हसनबाजार, चौरी, अगिआंव आजार और तरारी अन्य थानों की पुलिस मौक पर पहुंची और स्थिति को नियंत्रित किया गया। हालात को देखते हुये पुलिस सुबह देर तक गांव में कैंप करती रही। 

  • करीब दो घंटे तक जाम रहा आरा-सासाराम स्टेट हाईवे

आरा। पड़रिया गांव निवासी निकेश उर्फ छोटू की हत्या के बाद परिजन और ग्रामीण भड़क उठे। पोस्टमार्टम के बाद शव आने के बाद आरोपितों की गिरफ्तारी और हथियार बरामदगी को लेकर सड़क पर उतर गये। गुस्साये लोगों ने चरपोखरी बाजार के पसौर मोड़ के पास शव रख दिया और आरा-सासाराम स्टेट हाईवे को जाम कर दिया। इस दौरान पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गयी। परिजन पुलिस पर इस मामले की लीपापोती करने का आरोप लगा रहे थे। लोगों का कहना था कि पुलिस इस मामले में बरामद रिवाल्वर और नामजद आरोपितों को बचाने का प्रयास कर रही है। इससे करीब ढाई घंटे तक आवागमन बाधित रहा।बाद में बीडीओ विभेष आनंद, सीओ बीरेन्द्र कुमार और स्थानीय पुलिस पहुंची और समझाकर लोगों के गुस्से को शांत कराया। तब आवागमन बहाल कराया गया।

  • जिन बारातियों के स्वागत में जुटा था निकेश, उन्हीं ने मार दी गोली

आरा। निकेश कुमार उर्फ छोटू शाम से ही बारातियों के स्वागत में लगा था। खाना और नाश्ता में परोसने में ले लगा था। इसी दौरान गुरहथि के दौरान सामियाना के तरह हो हल्ला सुनकर वह दौड़ पड़ा। जहां उसकी गोली लगने से मौत हो गई। मौत की खबर मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। मृतक के मां उषा देवी का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। वह बार-बार बेसुध हो कर बेहोश हो रही थी। छोटी बहन सपना कुमारी अपने भाई के मौत की का गम बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी। आसपास  की महिलाओं द्वारा ढांढस बंधाया जा रहा था।

Khabreapki.com देखें- खबरें आपकी – फेसबुक पेज – वीडियो न्यूज – अन्य खबरें

एक फूल दो माली वाली प्रेम कहानी में मारा गया बालू कारोबारी

भोजपुर में हर्ष फायरिंग के दौरान गोली लगने से युवक की मौत

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular