Saturday, February 27, 2021
No menu items!
Home धर्म पर्व-त्योहार विद्या और बुद्धि की देवी मां सरस्वती पूजा की तैयारी जोरों पर

विद्या और बुद्धि की देवी मां सरस्वती पूजा की तैयारी जोरों पर

Maa Saraswati Puja – जय मां सरस्वती के जयघोष से गूंज उठा वातावरण

खबरे आपकी Maa Saraswati Puja आरा : ऋतुराज बसंत के आगमन पर विद्या और बुद्धि की देवी मां सरस्वती को समर्पित बसंत पंचमी का त्योहार उत्साह से मनाया जाता है। कहा जाता है कि भगवान श्रीकृष्ण ने मां सरस्वती को वरदान दिया था कि बसंत पंचमी के दिन आपकी आराधना की जाएगी। इसबार बसंत पंचमी का त्योहार मंगलवार को है। इस दिन विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा-अर्चना होगी। बसंत पंचमी के दिन से ही होली के त्योहार की औपचारिक शुरुआत हो जाती है। मां सरस्वती की उत्पत्ति दुर्गा के पांचवें रूप स्कंदमाता से हुई है। श्वेत वस्त्र, हाथों में वीणा, धर्म ग्रंथ धारण किए हुए मां सरस्वती जगत में ज्ञान की बारिश करती हैं। विशेषकर विद्यार्थी वर्ग मां सरस्वती की आराधना पूरे भक्ति भाव के साथ करते हैं। इस दिन मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए पीले रंग के वस्त्र धारण किए जाते हैं। इस त्योहार पर काले और लाल रंग के वस्त्र धारण कर मां सरस्वती की पूजा न करें।

बसंत पंचमी के पावन उत्सव से जुड़े हैं कई रोचक तथ्य

बसंत पंचमी के दिन ही माता शबरी के जुठे बेर प्रभु श्रीराम ने खाए थे। बसंत पंचमी के दिन ही पृथ्वी राज चौहान ने शब्दभेदी बाण चलाकर मोहम्मद गौरी का वध किया था। बसंत पंचमी के दिन ही राजा भोज के जन्मदिवस को भी मनाया जाता है। राजा भोज इस दिन आम जनता के लिए बहुत बड़े भोज का आयोजन कराते थे, जिसमे 40 दिनों तक पूरी प्रजा भोजन करती थी। यह भी मान्यता है कि इस दिन सांप को दूध पिलाने से परिवार में सुख और समृद्धि का आगमन होता है।

पढ़े :- पुलिस को मिला हथियारों का जखीरा,भोजपुर के पीरो के रहने वाले हैं गिरफ्तार तस्कर

भोजपुर जिले के विभिन्न स्कूल, कोचिंग, शिक्षण संस्थानाें के अलावे अन्य स्थानों पर मूर्ति स्थापित कर ज्ञान की देवी मां सरस्वती की पूजा की जाएगी। आरा शहर में सरस्वती पूजा को लेकर तैयारी जोरों पर है। बाजार में सजावट के सामान, पूजन सामग्री, फल एवं मिठाई की खरीदारी करने के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ी रही। शहर के आरण्य देवी रोड स्थित सजावट की दुकानों पर सोमवार की सुबह से शाम तक भारी भीड़ देखने को मिली।

वाहन तथा ठेले पर मां सरस्वती की प्रतिमा ले जाते दिखी बच्चों एवं युवाओं की टोली

जय मां सरस्वती के जयघोष से गूंज उठा वातावरण

Maa Saraswati Puja सरस्वती पूजा को लेकर शहर के करमन टोला, मौलाबाग, अबरपुल, अनाईठ समेत अन्य स्थानों पर कारीगर मूर्तियों को अंतिम रूप देने में सपरिवार जुटे रहें। ग्रामीण इलाकों में सरस्वती पूजा को लेकर लोगों द्वारा भव्य तैयारियां की गई है। जगह-जगह सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं नाटक का मंचन किया जाएगा। सोमवार की सुबह से ही छोटे-छोटे बच्चे एवं युवाओं की टोली मां सरस्वती की प्रतिमा को विभिन्न वाहन तथा ठेले से पंडाल तथा घर तक ले जाते दिखे। इस दौरान जय मां सरस्वती के जयघोष से पूरा इलाका गुंजायमान रहा।

पढ़े :- लालू यादव के बेहद करीबी जगदानंद सिंह पर भड़के तेजप्रताप ने लगाये गंभीर आरोप

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular