Friday, February 26, 2021
No menu items!
Home News बिहिया का एलआईसी कार्यालय अघोषित रूप से बंद

बिहिया का एलआईसी कार्यालय अघोषित रूप से बंद

मदर बोर्ड जलने के कारण एक पखवाड़े से सभी कार्य ठप

आरा/बिहिया : मदर बोर्ड जल जाने के कारण बिहिया नगर स्थित भारतीय जीवन बीमा निगम का सेटेलाइट कार्यालय में काम काज पिछले दस जुलाई से ठप है। हालांकि कार्यालय प्रत्येक दिन खुलता और बिना काम बंद हो जाता है। अभिकर्ताओं की माने तो प्रत्येक दिन दो सौ से ज्यादा की संख्या में बीमाधारक अपना प्रीमियम जमा करने आते है और बैरंग लौट जाते है।

जेल में बंद पत्रकार नवीन निश्चल हत्याकांड के मुख्य आरोपित की मौत

कोरोना की इस भयावह स्थिति में रोजी-रोटी चलाने हेतु जान जोखिम में डालकर एल.आई. सी के अभिकर्ता जो कलेक्शन लाते है वो भी जमा नही हो पा रहा है। जिससे अभकर्ताओ में काफी रोष है। अभिकर्ता अरुण मिश्र ने इस संबंध में बताया कि बीमाधारक अभिकर्ताओं की परेशानी से बेखबर है। वही एलआईसी में अधिकारी सबकुछ जानते हुए भी संज्ञान नही ले रहे है। जिसके चलते अभिकर्ताओं के सामने रोजी-रोटी की समस्या पैदा हो गयी है।

सपा के छात्र सभा के प्रदेश अध्यक्ष ने जगदीशपुर नपं के मुख्यपार्षद पर लगाए गंभीर आरोप

श्री मिश्र का कहना है कि ऐसी स्थिति में यदि पॉलिसी लैप्स होता है और बीमाधारक धारक संयोग से किसी हादसे का शिकार हो जाते है तो क्लेम से हाथ धोना पड़ेगा। जिसकी जिम्मेवारी कौन लेगा। अधिकारी टाल मटोल के अलावे कोई भी ठोस उपाय नही कर रहे है। जिससे की बिहिया कार्यालय सुचारू रूप से चलाया जा सके।

 भोजपुर एसपी सुशील कुमार द्वारा नवादा एवं जगदीशपुर थाना इंचार्ज सहित 18 थाना इंचार्जो के वेतन भुगतान पर रोक

दो दिनों के भीतर कार्यालय नही खुला तो अभिकर्ता करेंगे तालाबंदी

बताया जा है कि कार्यालय में शाखा प्रबंधक और एक असिस्टेंट सहित दो स्टाफ है जो नही आते है। एक दो प्राइवेट डेली वेजर के भरोसे कार्यालय खुलता है। इस कुव्यस्था को लेकर मंगलवार को बिहिया शाखा से जुड़े अभिकर्ताओं ने सामाजिक दूरी का पालन करते अभिकर्ता संगठन लियाफी के बैनर तले एक बैठक की गई। जिसमें निर्णय लिया गया कि अगर दो दिनों के भीतर कार्यालय नही खुलता है तो कार्यालय में अनिश्चित काल के लिये ताला बन्दी की जायेगी।

राकेश गोस्वामी हत्याकांड का खुलासा-बहन के साथ देख कातिल बन गया दोस्त,कर दी हत्या

बैठक में अभिकर्ता शिवशंकर ओझा, राजीव सिंह, आशोक कुमार सिंह, अरुण मिश्र, जय शंकर गोंड़, बालदेव उपाध्याय, संजय दुबे, महेश राम, शैलेश चौबे, नरेंद्र सिंह, सूर्यप्रकाश लाल सहित सैकड़ों अभकर्ताओ ने भाग लिया।

और भी पढ़े – खबरें आपकी-फेसबुक पेज

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular