Tuesday, September 28, 2021
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरजेल में बंद कुख्यात के इशारे पर सुपारी देकर करायी गयी कपड़ा...

जेल में बंद कुख्यात के इशारे पर सुपारी देकर करायी गयी कपड़ा दुकानदार की हत्या

Sakdi murder case-कपड़ा दुकानदार की हत्या में हथियार और बाइक सहित चार अपराधी गिरफ्तार 

नगर थाना क्षेत्र के इब्राहिम नगर से मंगलवार की रात पकड़े गये सभी बदमाश

एक देसी पिस्टल, एक देसी कट्टा, चार गोलियां और एक मोबाइल बरामद

खबरे आपकी आरा। भोजपुर जिले के कोईलवर थाना क्षेत्र के सकड्डी निवासी कपड़ा दुकानदार राजू चौधरी की हत्या जेल में बंद कुख्यात मिथिलेश पासवान के इशारे पर करायी गयी थी। इसके लिये अपराधियों को सुपारी दी गयी थी। हत्या में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद इसका खुलासा हुआ है। इस मामले में पुलिस ने चार अपराधियों को गिरफ्तार किया है। इनमें गोली मारने वाले और हथियार व बाइक उपलब्ध कराने वाले शामिल हैं।  अपराधियों के पास से एक देसी पिस्टल, एक कट्टा, चार गोलियां, एक मोबाइल और हत्या में इस्तेमाल एक अपाची बाइक बरामद की गयी है। गिरफ्तार बदमाशों में नगर थाना क्षेत्र के इब्राहिम नगर निवासी विक्की कुमार, जयप्रकाश महतो उर्फ गोरख महतो, उसका भाई सत्य प्रकाश कुमार उर्फ करिया महतो और कोईलवर थाना क्षेत्र के कुल्हडिया में रहने वाला पटना निवासी पवन कुमार शामिल हैं। पूछताछ में चारों अपराधियों ने Sakdi murder case हत्या में शामिल होने की बात स्वीकार की है। एसपी विनय तिवारी ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी।

पढ़ें- बैंक डकैती और जेवर व्यवसायी से दस लाख के जेवर लूट में अपराधियों तक नहीं पहुंच सकी पुलिस

एसपी ने बताया कि कोईलवर इलाके का रहने वाला एक अपराधी मिथिलेश पासवान कुछ माह जेल गया था। उसे संदेह था कि कपड़ा दुकानदार राजू चौधरी ने ही उसे गिरफ्तार करवाया है। इसका बदला लेने के लिये उसने जेल से ही कपड़ा दुकानदार राजू चौधरी की हत्या की साजिश रची। इसे लेकर उसने जेल के बाहर साथियों से संपर्क किया और सुपारी देकर हत्या करने की जिम्मेदारी दी।

Sakdi murder case बता दें कि 14 जुलाई की दोपहर कोईलवर थाना क्षेत्र के सकड्डी बाजार में दुकान में घुंस कर कपड़ा व्यवसायी राजू चौधरी की गोली मार हत्या कर दी गयी थी। तब अंधाधुंध फायरिंग में राजू चौधरी का दोस्त भी जख्मी हो गया था। 

लूट की साजिश करते पकड़े गये चारों अपराधी

कपड़ा दुकानदार हत्याकांड में शामिल चारों बदमाशों को आरा से लूटपाट की साजिश करते गिरफ्तार किया गया। एसपी ने बताया कि हत्या की घटना के बाद एसडीपीओ विनोद कुमार के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया था। जांच में जुटी टीम घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज, पिछले माह के घटित घटनाओं और तकनीकी आधार पर साक्ष्य एकत्रित की। इस आधार पर टीम को तीन बदमाशों की पहचान करने में सफलता मिली। टीम तीनों का पीछा कर रही थी।

पढ़ें- शाहपुर थाना क्षेत्र के शाहपुर नगर में युवक की पीट-पीटकर निर्मम हत्या

इसी क्रम में मंगलवार की शाम नगर थाना के इब्राहिम नगर के पास अपराधियों द्वारा लूट की साजिश किये जाने की सूचना मिली। उस आधार पर टीम ने छापेमारी कर चार बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया। तलाशी के दौरान सत्य प्रकाश उर्फ करिया और जयप्रकाश महतो उर्फ गोरख के पास से हथियार, गोली, बाइक और मोबाइल बरामद किया गया। इसे लेकर नगर थाना में चारों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है। टीम में टीम में शामिल पुलिस पदाधिकारियों में सदर एसडीपीओ विनोद कुमार नगर थाना इंचार्ज शंभू भगत, नवादा थाना इंचार्ज संजीव कुमार, आरा नगर थाना के दारोगा रामस्वरूप राम, कोइलवर थाना इंचार्ज प्रवीण कुमार, डीआईयू टीम के दारोगा राकेश कुमार, सुधीर कुमार,अवधेश कुमार और राजीव रंजन है। एसपी ने कहा कि टीम को पुरस्कृत किया जायेगा। 

Sakdi murder case
Sakdi murder case

Sakdi murder case-हत्या के लिये 50-50 हजार रुपये पर हायर किये गये थे अपराधी

Sakdi murder case कपड़ा दुकानदार राजू चौधरी हत्याकांड में आधा दर्जन अपराधी शामिल थे। इनमें जेल में बंद मिथिलेश पासवान षड़यंत्र करने वाला था। तीन हत्या में शामिल थे, जबकि एक द्वारा बाइक उपलब्ध करायी गयी थी। इन सभी बदमाशों को मिथिलेश पासवान 50-50 हजार रुपये देकर हायर किये थे। एसपी ने बताया कि जेल में बंद मिथिलेश पासवान को शक था कि सकड्डी निवासी राजू चौधरी के इशारे पर ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है। इसी को लेकर उसने जेल से ही हत्या की प्लानिंग रच दी। हत्या को लेकर उसने करिया से संपर्क किया और 50-50 हजार रुपये व बाइक उपलब्ध करायी। कुल्हडिया निवासी पवन कुमार ने बाइक उपलब्ध करायी थी। उसने ही लाइनर की भूमिका भी अदा की थी। हत्या में राजा, पंकज और सत्य प्रकाश कुमार उर्फ करिया महतो शामिल था। उन्होंने बताया कि इस मामले में राजा और पंकज फरार चल रहे हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। 

मॉल बम कांड और पुलिस के साथ मुठभेड सहित अन्य मामलों में भी आरोपित रहा है मिथिलेश

सकड्डी निवासी राजू चौधरी हत्याकांड में पुलिस के हत्थे चढ़े बदमाशों का आपराधिक रेकॉर्ड पुलिस खंगाल रही है। एसपी के अनुसार सभी का पहले से आपराधिक इतिहास रहा है। हालांकि अभी जांच करायी जा रही है। वहीं जेल में बंद कुख्यात मिथिलेश पासवान पुरान हिस्ट्रीशीटर रहा है। आरा शापिंग मॉल बम कांड और पुलिस के साथ मुठभेड़ सहित दर्जन भर से अधिक मामलों में वह आरोपित रहा है। उसके खिलाफ हत्या और लूटपाट और रंगदारी के भी मामले हैं।

पढ़ें- एसपी विनय तिवारी के नेतृत्व में सोन में चली छापेमारी,अवैध बालू के धंधे पर रोक

भोजपुर के अलावे अरवल जिले में भी हत्या के मामले में उसका नाम आया है। उसे बीते मार्च माह में ही अरवल पुलिस ने गिरफ्तार किया था। कोईलवर थाना क्षेत्र के कुबेरचक, धनडीहां निवासी मिथिलेश पासवान को अरवल पुलिस ने दो लोगों को गोली मारे जाने के मामले में गिरफ्तार किया था। आरा के गांगी में भी शोध प्रतिशोध में हत्या के बारे में उसका नाम आया था।

सनद हो कि छह नवंबर 2020 को आरा टाउन थाना क्षेत्र के गौसगंज, गंगी गोलंबर स्थित ऑटो स्टैंड के समीप एक युवक को गोलियों से भून दिया गया था। जबकि, एक ऑटो चालक गोली लगने से घायल हो गया था। वहीं इसी साल 11 जनवरी को शहर के आनंद नगर में कुख्यात छोटू मिश्रा और पुलिस मुठभेड़ में भी वह शामिल था। करीब चार साल पहले रंगदारी के लिये शहर के एक चर्चित मॉल पर बम फेंकने भी वह जेल गया था।

- Advertisment -
ad
ad23
Ad

Most Popular