Tuesday, February 27, 2024
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरमुजफ्फरपुर से अगवा डाक्टर पुत्र भोजपुर से बरामद, तीन अपहरणकर्ता गिरफ्तार

मुजफ्फरपुर से अगवा डाक्टर पुत्र भोजपुर से बरामद, तीन अपहरणकर्ता गिरफ्तार

Vivek kidnapping case Muzaffarpur: मुजफ्फरपुर के कांटी क्षेत्र से शुक्रवार की शाम डाक्टर पुत्र को किया गया था अगवा

  • गड़हनी थाना क्षेत्र के रतनाढ़ स्थित मंदिर से बरामद किया गया अगवा डाक्टर पुत्र
  • भोजपुर और मुजफ्फरपुर पुलिस की टीम को 12 घंटे में मिली बड़ी सफलता
  • अपहरण में इस्तेमाल स्कॉर्पियो कार बरामद, अपहरणकर्ताओं से पूछताछ कर रही पुलिस
  • एसपी बोले: खंगाले जा रहे अपहरणकर्ताओं के आपराधिक इतिहास

Vivek kidnapping case Muzaffarpur/Bihar/Ara: बिहार के मुजफ्फरपुर से अगवा डाक्टर पुत्र विवेक कुमार को भोजपुर से सकुशल बरामद कर लिया गया। उसे शनिवार की सुबह गड़हनी थाना क्षेत्र के रतनाढ़ गांव के समीप एक मंदिर से बरामद किया गया। अपहरण में शामिल तीन अपराधियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। तीनों भोजपुर के अलग-अलग जगहों के रहने वाले हैं। उनमें एक नारायणपुर, दूसरा सहार और तीसरा गड़हनी इलाके का ही रहने वाला है। अपहरण में इस्तेमाल स्कॉर्पियो भी जब्त कर ली गयी है। चालक को भी पकड़ा गया है।

भोजपुर और मुजफ्फरपुर पुलिस की संयुक्त टीम को यह सफलता हाथ लगी है। अगवा विवेक कुमार मुजफ्फरपुर के कांटी निवासी होमियोपैथी डाॅ. एसपी सिन्हा के पुत्र हैं। उसे शुक्रवार की शाम कांटी थाना क्षेत्र के ओवरब्रिज के समीप से अगवा किया गया था। भोजपुर एसपी प्रमोद कुमार द्वारा डाक्टर पुत्र की सकुशल बरामदगी और अपहरणकर्ताओं की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

उन्होंने बताया कि डाक्टर पुत्र सुरक्षित हैं। अपहरणकर्ताओं को अभी फिरौती की रकम नहीं मिली थी। तकनीकी सूत्र के आधार पर अगवा युवक को सकुशल बरामद किया गया है। पूरे मामले की छानबीन की जा रही है। मुजफ्फरपुर के साथ भोजपुर पुलिस भी अपहरण के कारणों की पड़ताल कर रही है। साथ ही अपहरणकर्ता के आपराधिक इतिहास को भी खंगाला जा रहा है। हालांकि सभी अपहरणकर्ता नये लग रहे हैं।

पुलिस आने की भनक लगने पर डाक्टर पुत्र सहित मंदिर की छत पर छुप गये थे बदमाश

एसपी प्रमोद कुमार ने बताया कि डाक्टर पुत्र को अगवा करने के बाद अपराधी उसे अपने साथ लेकर भोजपुर आ गये थे। तकनीकी जांच और अपह्वत युवक के एक दोस्त से पूछताछ में मुजफ्फरपुर पुलिस को अगवा डाक्टर पुत्र को भोजपुर लाये जाने का इनपुट मिला था। पता चला कि उसे गड़हनी इलाके में रखा गया है। उस आधार पर मुजफ्फरपुर पुलिस की टीम देर रात भोजपुर पहुंची। उसके बाद दोनों जिलों की संयुक्त टीम द्वारा सर्विलांस के आधार पर गड़हनी इलाके में छापेमारी की गयी। हालांकि अपहरणकर्ता को पुलिस की आने की भनक लग गयी थी। उसे देखते हुए अपहरणकर्ता डाक्टर पुत्र के साथ एक मंदिर की छत पर छुप गये थे। वहां से डाक्टर पुत्र को सकुशल बरामद कर लिया गया। अपहरणकर्ता को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

Vivek kidnapping case Muzaffarpur: अपहरण कांड में जेल में बंद भोजपुर के एक गैंगस्टर की भूमिका की चर्चा

मुजफ्फरपुर निवासी डाक्टर पुत्र के अपहरण में जेल में बंद भोजपुर के एक गैंगस्टर की भूमिका की चर्चा चल रही है। वह गड़हनी थाना क्षेत्र के भी एक गांव का रहने वाला है। वह पुराना हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ बैंक डकैती, लूट, रंगदारी, हत्या और अपहरण सहित दर्जन भर से अधिक मामले दर्ज हैं। उसके गांव के बगल से ही अगवा डाक्टर पुत्र को बरामद किया गया है। अपहरण में इस्तेमाल स्कॉर्पियो नारायणपुर इलाके की बतायी जा रही है। दूसरी ओर यह भी बताया जा रहा है कि अपहरण में शामिल अपराधी डाक्टर के घर में ही किराये के मकान में रहते थे। पुलिस हर एंगल से छानबीन कर रही है।

रेस्टोरेंट जाते समय कांटी से डाक्टर पुत्र को किया गया था अगवा

मुजफ्फरपुर निवासी डाक्टर एसपी सिंहा के इकलौते पुत्र विवेक कुमार शुक्रवार की शाम दोस्त की पार्टी में भाग लेने एक रेस्टोरेंट जा रहा था। उसी दौरान कांटी थाना क्षेत्र कांटी ओवरब्रिज के निकट से उसे अगवा कर लिया गया। उसके बाद डाक्टर से तीस लाख रुपए की फिरौती भी मांगी गयी थी। अपहरण की सूचना के बाद पूरे इलाके में हड़कंप मच गया था। पुलिस आनन-फानन में डाक्टर पुत्र की बरामदगी में जुट गयी थी। सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे थे ‌ उसी क्रम में अपहृत विवेक के दोस्त से भी पूछताछ की गयी। उससे पूछताछ में अपहरण का राज खुल गया। उसकी निशानदेही पर डाक्टर पुत्र को बरामद कर लिया गया।

- Advertisment -

Most Popular