Sunday, July 25, 2021
No menu items!
HomeNewsCrimeअवैध बालू खनन और वर्चस्व में गोलीबारी, ट्रैक्टर चालक जख्मी

अवैध बालू खनन और वर्चस्व में गोलीबारी, ट्रैक्टर चालक जख्मी

Firing in Kamaluchak दो पक्षों में हो रही फायरिंग का शिकार हो गया बालू लेने गया ट्रैक्टर चालक

गोली लगने से जख्मी चालक का आरा सदर अस्पताल में कराया जा रहा इलाज

खबरे आपकी बिहार/आरा: भोजपुर के कोईलवर थाना क्षेत्र के कमालुचक दियारे (Firing in Kamaluchak) में बुधवार को अवैध बालू खनन और घाट पर वर्चस्व को लेकर दो पक्षों में जमकर गोलीबारी हुई। इस दौरान बालू लेने दियारे की ओर गये एक ट्रैक्टर चालक को गोली लग गयी। इसमें चालक गंभीर रूप से जख्मी हो गया, जिसका इलाज सदर अस्पताल में कराया जा रहा है। जख्मी चालक बड़हरा थाना क्षेत्र के शालिग्राम सिंह के टोला गांव निवासी सिंघासन राय का 40 वर्षीय पुत्र छोटेलाल राय है। हालांकि गोलीबारी दो पक्षों के बीच हो रही थी। यह फिलहाल स्पष्ट नहीं हो सका है।

डाक्टर नरेश प्रसाद ने सदर अस्पताल की ओटी में किया ऑपरेशन

Firing in Kamaluchak सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस पहुंची और छानबीन में जुट गयी। जख्मी चालक के परिजन गोपाल राय ने बताया कि छोटेलाल सुबह करीब पांच बजे बालू लेने कमालुचक घाट की ओर गया था। तभी घाट के समीप दो पक्षों की ओर से गोलियां चलने लगी। इसमें उसे गोली लग गयी। मोबाइल से सूचना मिलने पर वह सभी पहुंचे और इलाज के लिए पटना के मनेर पीएचसी ले जाया गया। वहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे इलाज के लिये आरा सदर अस्पताल लाया गया। वहां डाक्टर नरेश प्रसाद द्वारा जख्मी चालक का ऑपरेशन किया गया। समाचार लिखे जाने तक इस मामले में प्राथमिकी दर्ज किये जाने की सूचना नहीं थी। फिलहाल पुलिस अपने स्तर से जांच कर रही है।

पढ़े :- चिकेन बनी फांसः गले में हड्डी अटकने से गयी युवक की जान

कमालुचक दियारे में 22 रोज बाद गरजी उठी बंदूकें

Firing in Kamaluchak कमालुचक दियारे में महीने में दूसरी बार अवैध बालू के धंधे से जुड़े लोग टकराहट गये। इस दौरान फिर बंदूकें गरज उठीं। इस बार दो पक्षों की गोलीबारी का शिकार एक ट्रैक्टर चालक हो गया। आठ मार्च की रात भी कमालुचक दियारे में तीन बाप-बेटों को गोली मार दी गयी थी। बाद में एक जख्मी की मौत हो गयी थी। तीनों बाप-बेटे रात में लौट रहे थे, तभी रास्ते में घेर कर गोली मार दी गयी थी। तब पुलिस ने बताया था कि तीनों बालू के अवैध धंधे और खनन का काम करते थे। उस मामले में नामजद प्राथमिकी भी दर्ज की गयी थी। पुलिस अभी उसमें शामिल आरोपितों की धरपकड़ मे जुटी थी कि एक बार फिर गोलीबारी हो गयी।

Firing in Kamaluchak - injured
फायरिंग का शिकार ट्रैक्टर चालक

21 फरवरी को महादेवचक सेमरियां घाट पर गोलीबारी में बच्ची को लगी थी गोली

सोन के तटीय इलाके में बालू खनन को लेकर गुटों के बीच अक्सर टकराव होती रही है। वर्चस्व टकराहट अब काफी खतरनाक होती जा रही है। गुटों के बीच खूनी संघर्ष होने लगी और लोग एक-दूसरे के खून के प्यासे होने लगे हैं। खासकर कोईलवर व बड़हरा इलाके में ऐसी घटनायें खूब होती है। पिछले 21 फरवरी को ही कोईलवर थाना क्षेत्र के महादेवचक सेमरिया बालू घाट पर वर्चस्व को लेकर दो पक्षों में भिड़ंत हो गयी। तब दो पक्षों के बीच जमकर गोलीबारी हुई। अंधाधुंध फायरिंग में बगल के खेत में मिर्ची तोड़ रही दस साल एक बच्ची को गोली लग गयी थी। उसे सर में छर्रा लगा था। वहीं इस साल जनवरी माह में भी बालू के विवाद में सहार में एक चालक की हत्या कर दी गयी। जबकि चांदी इलाके में एक युवक को गोली मार दी गयी। पिछले साल भी अगस्त माह में कोईलवर इलाके में दो गुटों में जमकर फायरिंग हुई थी।

पढ़े :- लाइनर गिरफ्तार : एसपी बोले: हत्या के पीछे जेल में बंद रंजीत चौधरी की साजिश

- Advertisment -
AD
Ad
khabreapki.com-politics
khabreapki.com-politics

Most Popular