Monday, March 8, 2021
No menu items!
Home News जेल में छापेमारी, लावारिस हाल में फेंके गये मोबाइल और चार्जर बरामद

जेल में छापेमारी, लावारिस हाल में फेंके गये मोबाइल और चार्जर बरामद

Raids in Ara jail – विधान सभा चुनाव को लेकर की गयी कारा प्रशासन द्वारा की गयी छापेमारी

Raids in Ara jail – आरा मंडल कारा में सोमवार की शाम जेल प्रशासन द्वारा छापेमारी की गयी। करीब सवा घंटे तक चली छापेमारी में लावारिस हालत में फेंके गये तीन मोबाइल और एक चार्जर बरामद किये गये। दो मोबाइल वार्ड सात से दस के और एक वार्ड नंबर 28 के पीछे फेंका गया था। इस संबंध में जेल अधीक्षक युसूफ रिजवान द्वारा टाउन थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। पौने आठ बजे शुरू हुई छापेमारी नौ बजे तक चलती रही। कारा प्रशासन द्वारा यह कार्रवाई विधान सभा चुनाव को देखते हुये की गयी है।

सोमवार की शाम सवा घंटे तक कारा प्रशासन द्वारा की गयी तलाशी

कारा प्रशासन के अनुसार सोमवार की शाम पौने आठ बजे औचक छापेमारी शुरू की गयी। इस दौरान वार्ड नंबर 7, 8, 9, 10 और 28 के अंदर व बाहर सघन तलाशी ली गयी। इस क्रम में वार्ड नंबर सात से दस के पीछे से दो और वार्ड नंबर 28 के पीछे से एक मोबाइल बरामद किये गये। कारा और पुलिस प्रशासन मामले की जांच व मोबाइल मंगाने वाले बंदियों की पहचान में जुटा है। Raids in Ara jail- इससे पहले भी जेल से मोबाइल बरामद होते रहे हैं। पिछले गुरुवार की सुबह हच चांदमारी चक्कर के दौरान दो मोबाइल और एक चार्जर बरामद किये गये थे। उससे पहले 11 सितंबर को भी तीन मोबाइल व दो चार्जर बरामद किये गये थे। उससे पहले एक सितंबर को भी जेल से 80 ग्राम गांजा और 23 अगस्त को तीन मोबाइल बरामद किये गये थे। इससे पहले भी कई बार इस तरह के प्रयास किये जा चुके हैं। हालांकि कारा प्रशासन की सख्ती और सक्रियता के कारण अक्सर सामान बंदियों तक पहुंचने से पहले ही जब्त कर लिया जा रहा है। विदित हो कि जेल में कुछ दबंग और रसूख वाले बंदी भी हैं। इनमें कुछ द्वारा जेल से ही अपने गैंग संचालित किये जाते हैं। ऐसे में मोबाइल के जरिये चुनाव में भी लोगों को प्रभावित कर सकते हैं। अब देखना चुनाव को देखते हुये जेल और जिला प्रशासन द्वारा इस मामले में कितनी ठोस कार्रवाई की जा रही है।

पटना की ट्रांसजेंडर मोनिका बनेंगी पीठासीन पदाधिकारी,ट्रांसजेंडर समुदाय में खुशी की लहर

केरल में पोस्टेड भोजपुर का जवान हुआ शहीद,दिसंबर महीने में होनी थी शादी

आश्चर्य है लालू यादव के पैतृक गांव विधानसभा में कभी नही जली लालटेन

लालू डेरा में ताबड़तोड़ फायरिंग से थर्राया दियारा इलाका,दबंग नामजदों ने दर्जनों राउंड फायरिंग की

हत्या क्यों और किसने की? राज खोलना भोजपुर पुलिस के लिये चुनौती,खोजी कुत्ते को नहीं मिला सुराग

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular